Join Whatsapp Group

Join Telegram Group

Full Form Of BRA : BRA का फुल फॉर्म ? 99% लोगों ने दिया गलत, ब्रा को हिंदी में मे क्या कहते है Best जवाब क्या आप जानते है

Full Form Of BRA
Full Form Of BRA

Full Form Of BRA:- इतिहास के दौरन, अलग-अलग संस्कृतियों ने अपने अपने ब्रा के रूप में विकास किया है। प्राचीन ग्रीस में, महिलायें अपने इस्तनों को कपडे या चमके की पत्तियों से बांध लेती थी, जबकी रोम में, महिलायें “स्ट्रोफियम” कहते एक इसतंबंधन पेहेंती थी। यूरोप के मध्य युग में, महिलायें अधिक कोर्सेट पहेंती थी, जो इस्तनों को ऊपर की और ढ़केल देते थे, जिसे मॉडर्न ब्रा के जैसे प्रभाव पैदा होता था।

ब्रा का इतिहास?

ब्रा का इतिहास बहुत लंबा और रोचक है, जो प्राचीन समय से चलता हुआ आ रहा है। सबसे पहला दर्शनिक दर्पण जैसा बना हुआ चोली मिसर में पाया गया था, जिसका लगभाग 2500 बीसीई पूर्व तक के समय से है। यह वस्त्र एक साधारण कपड़े का टुकड़ा था, जो इस्तनों के चारो तरफ लगा होता था और कंधो पर काशे हुए होता था।

ऐसा लगभाग 19वीं शताब्दी के अंत में था, जब वर्तमान का रूप प्रकट होने लगा। 1889 में, एक फ्रेंच कोर्सेट बनाने वाली हर्मिनी कैडोल ने पहला ब्रा बनाया था, जो स्टैनन को अलग किया और कंधो पर काशे हुए स्ट्रैप्स के साथ था। उसके डिजाइन ने हमें समय के लिए क्रांतिकारी कदम उठाया और वर्तामन ब्रा के लिए रास्ता प्रशस्त किया।

20वीं शताब्दी के शुरू में, ब्रा महिलाओ द्वारा अधिक आरामदाता और कार्यक्रम दोनो बनाने की मांग के साथ बढ़ने लगा। 1920 में, “फ्लैपर” स्टाइल लोकप्रिया हुआ, जिस्मे ढिले कपड़े और कम प्रतिबंधक अंडरगारमेंट्स का इस्तमाल किया जाता था। इसने बंदो ब्रा के विकास को जन्म दिया, जो स्टैनों को ढकने वाला एक साधरण कपडा था।

Read Also:-  Dakhil Kharij Online Apply Kaise Kare : बिहार में दाखिल खारिज के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें, पूरी प्रक्रिया जाने – Very Useful

1950 और 1960 के दशक में, ब्रा नारी संबंध और आकार संबंध एक प्रतीक बन गया। हॉलीवुड के सितारे जैसे कि मर्लिन मुनरो और जाने मैन्सफील्ड ने “स्वेटर गर्ल” लुक की प्रचारिता बढ़ाई, जिस्मे एक टाइट स्वेटर शंक्वाकार आकार की ब्रा के ऊपर पहनना जाता था, जिस स्टैनन को बड़ा और उभारा दिखाया जाता था। इसी दौरन, पुश-अप ब्रा का विकास हुआ, जिससे महिलायें और भी अधिक भव्य स्तानों का प्रभाव बना सकती थी।

ब्रा का हिंदी में क्या नाम है?

ब्रा को हिंदी में (फूल फोरम ऑफ बर) “ब्रा” या “ब्रासीयर” के नाम से जाना जाता है। यह महिलाओ के इस्तनों को संभलने और उन्हें सही स्थान पर रखने के लिए इस्तमाल किया जाने वाला एक अंडरगारमेंट है। ब्रा एक तरह से इस्तनों के लिए एक आकार संबंध और आरामदाता विकल्प है, जिसे महिलायें अपनी पसंद के विकल्प चुन सकती हैं। या अक्सर धागे और स्ट्रैप्स से संबंध होता है और कुछ स्थितियों में हुक और आईलेट्स के साथ भी होता है, जिसको इसको इस्तमाल करने में आसनी होती है। यह पुरुषों के अंडरशर्ट से अलग होता है और महिलाओ के लिए एक जरूरी वस्त्र है, जो अक्सर नए फैशन ट्रेंड्स और स्थितियों के अनुसार डिजाइन और मटेरियल में बदलाव लाता रहता है।

Full Form Of BRA
Full Form Of BRA

Full Form Of BRA 

दोसरी विश्व युद्ध के दौरन, ब्रा राष्ट्रीयता का प्रतीक बन गया। सरकार ने महिलाओ को प्रोत्साहित किया कि वे कम कपडे से बने ब्रा पाने, तकी युद्ध के प्रयास के लिए अधिक कपडा प्रयोग किया जा सके। इसने “बुलेट ब्रा” के विकास को जन्म दिया, जो लड़े हुए जहाज के नाक जैसा भाव था।

Read Also:-  Awas Yojana Ka Paisa Kab Milega: आवास योजना 2022-23 का पैसा आना शुरू, ऐसे करें चेक

 

                                                                                ब्रा पहनने से यह फायदा होता है?

Bra pahenna mahilao ke liye bahut faydemand hai. Iske kuchh fayde hain:

  1. Stanon ko sahi sthaan par rakhne mein madad: Bra stanon ko sahi jagah par rakhne mein madad karta hai. Isse stanon ka sahi aakaar bana rahta hai aur unki sagging aur displacement se bachav hota hai.

    2. Badte hue stanon ko sambhalne mein madad: Stanon ka ubhar hona ya badhna mahilao ke liye aam baat hai. Bra pehnne se stanon ko sambhalne aur unke ubhar ko kam karne mein madad milti hai, jisse unki sundarta bani rahti hai.

  2. Fashion: Bra ek fashion item bhi hai, jo mahilao ko unki pasand ke anusaar chunne aur unke vastra ke saath sahi tarah se mix-and-match karne ki suvidha pradaan karta hai.
  3. Health: Sahi size aur style ka bra pehanna mahilao ke liye sehatmand hai. Yah mahilao ko stanon ke sambandhit samsyaon se bachata hai aur stanon ke aakaar mein any changes ko detect karne mein madad karta hai.

In faydon se pata chalta hai ki bra mahilao ke liye zaroori hai. Isliye, sahi size aur style ka bra chunna mahilao ke liye bahut mahatvapurn hai.

Full Form Of BRA
Full Form Of BRA

(Full form of Bra)

(Full Form of Bra) Bra ka pura naam – brassiere or brassière

ब्रा पहनने के फायदे – Bra Pahnne Ke Fayde!
  • स्तनों को सपोर्ट देना- स्तन फैट टिश्यू से बने होते हैं और इसमें कोई मांसपेशियां नहीं होती हैं
  • सही फिगर
  • स्तनों को आराम देने के लिए
  • आकर्षित दिखाना
Read Also:-  Bihar Parimarjan Status Check 2023: अब घर बैठे चेक करें अपनी भूमि परिमार्जन का स्टेटस जाने पूरी प्रक्रिया ?

Join Telegram

Leave a Comment

error: please Dont Try To Copy This